Breaking News

इस जानवर के दूध से बनता है दुनिया का सबसे महंगा पनीर, ये है कीमत

नई दिल्ली, ज्यादातर लोग पनीर खाने के शौकीन होते हैं, लेकिन क्या कभी आपने गधी के दूध का पनीर खाया है? अगर नहीं खाया तो बता दें कि सर्बिया के जेसाविका में गधी के दूध से पनीर बनता है और यह विश्व का सबसे महंगा पनीर बनाया जा रहा है. जिसकी कीमत करीब 78 हज़ार रुपये किलो तक होती है. इस पनीर के बारे में और भी चौंकाने वाली जानकारियां हैं क्योंकि ये गाय के दूध से नहीं बनता और न ही बहुत ज़्यादा मात्रा में बनाया जा सकता है. दुनिया के सबसे महंगे पनीर के बारे में दिलचस्प बातें जानें.

इन कपड़ो को पहनकर नहीं कर सकेंगे इमामबाड़ा का दीदार…

सफेद रंग का, घना जमा और स्वादिष्ट फ्लेवर युक्त यह पनीर सर्बिया के एक फार्म में गधी के दूध से बनाया जाता है और इसे बनाने वाले स्लोबोदान सिमिक की मानें तो ये पनीर न केवल लज़ीज़ होता है बल्कि सेहत के लिहाज़ से भी बेहतर विकल्प है.उत्तरी सर्बिया के एक कुदरती रिज़र्व को ज़ैसाविका के नाम से जाना जाता है. यहां सिमिक 200 से ज़्यादा गधों को पालते हैं और उनके दूध से कई तरह के उत्पाद तैयार करते हैं. आइए, आपको इन गधों और इस पनीर से जुड़ी और दिलचस्प बातें बताएं.

यूपी में ये छोटी सी दुकान में कचौड़ी बेचने वाला निकला करोड़पति…

सिमिक का दावा है कि सर्बिया के इन गधों के दूध में मां के दूध जैसे गुण होते हैं. ‘एक मानव शरीर को जन्म के पहले दिन से ही ये दूध दिया जा सकता है और वो भी इसे ​बगैर पतला किए हुए.’ सिमिक इस दूध को कुदरत का वरदान कहते हैं और सेहत के लिए बेहद फायदेमंद बताते हैं. उनका दावा है कि इसका सेवन अस्थमा और ब्रॉंकाइटिस जैसे कुछ और रोगों में फायदेमंद है.

एक छोटे से कीड़े ने रुक दी दर्जनों ट्रेनें….

इन दावों के बावजूद अब तक इस दूध पर वैज्ञानिक शोध नहीं हो सके हैं इसलिए सेहत के लिए इसके फायदे या गुणों के बारे में ज़्यादा मालूमात नहीं है. हालांकि यूनाइटेड नेशन्स ने इस दूध के बारे में कहा था कि ये उन लोगों के लिए बेहतरीन विकल्प है, जिन्हें गाय के दूध से एलर्जी जैसी समस्याएं हों. इसकी वजह ये भी थी कि इस दूध में प्रोटीन की मात्रा बहुत अच्छी होती है.

इस मंदिर में मिली महिला की सिर कटी लाश, नरबलि की आशंका

सिमिक की मानें तो दुनिया में उनसे पहले इन गधों के दूध से पनीर किसी ने नहीं बनाया. इस प्रॉडक्ट पर वो अपना ​अधिकार मानते हैं. जब उन्हें इस दूध से पनीर बनाने का आइडिया आया तो पहली समस्या ये थी कि इस दूध में कैसीन का स्तर कम होता है, जो पनीर के लिए बाइंडिंग एजेंट का काम करता है. लेकिन, चीज़ बनाने के लिए ज़ैसाविका के एक सदस्य ने सिमिक की मदद की और रास्ता ये खोजा गया कि अगर इस दूध में बकरी के दूध की कुछ मात्रा मिलाई जाए तो पनीर बनाया जा सकता है. खास बात ये है कि ये एक गधी एक दिन में एक लीटर दूध भी नहीं देती जबकि एक गाय से 40 लीटर प्रतिदिन तक दूध मिल सकता है. इसी वजह से इस पनीर का उत्पादन बहुत कम हो पाता है. एक साल में ये फार्म 6 से 15 किलो तक पनीर बनाता और बेचता है.

एसी में रहने से होती है ये बीमारी,इन चीजों से भी बनाएं दूरी

इस पनीर का उत्पादन कम होने के कारण इसकी कीमतें बहुत ज़्यादा हैं. इसके खरीदार ज़्यादातर विदेशी और पर्यटक होते हैं. सिमिक कहते हैं कि उनका फार्म गधों के दूध से साबुन और शराब का उत्पादन भी करते हैं. ये पनीर 2012 में तब चर्चा में आया था, जब सर्बिया के टेनिस स्टार नोवक डीजोकोविक के बारे में कहा गया था कि उनके लिए इस पनीर की सालाना सप्लाई की जाती है, हालांकि नोवाक ने इस खबर का खंडन किया था.

अब ये लोग कर सकेंगे फ्री मे हवाई यात्रा….

चूंकि खेती में ज़्यादातर मशीनों से काम होने लगा है कि इसलिए इन गधों का सर्बिया में उपयोग खत्म हो चुका है. ये बाल्कन प्रजाति के गधे हैं जो सर्बिया और मॉंटेनेग्रो प्रांत में ही शुरू से पाए जाते रहे हैं. सिमिक कहते हैं कि उनके फार्म में गधों की इस प्रजाति का संरक्षण भी किया जा रहा है.

अब यहां पर भी मिलेगा पेट्रोल-डीजल…

ड्राइविंग लाइसेंस को लेकर मोदी सरकार ने किया ये बड़ा बदलाव…

मोदी सरकार ने इन लोगो को दिया ये बड़ा तोहफा….

मोबाइल चोरी करना अब आसान नहीं,चोर को लगेगा जोर का ‘झटका’

इस तारीख से पहले नहीं खुलेंगे एक भी स्कूल…

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com