Breaking News

यथार्थ गीता के उर्दू अनुवादक, मुनीर बख्श आलम का निधन

सोनभद्र ,  स्वामी अड़गड़ानंद जी महाराज द्वारा लिखित यथार्थ गीता के उर्दू अनुवादक मुनीर बख्श आलम का सोमवार को उनके पैतृक निवास पर निधन हो गया।

एजेंसी से मुफ्त में ले सकते हैं गैस सिलेंडर का रेगुलेटर…

बच्चे की मौत, हाथियों ने किया अंतिम संस्कार, देखे वीडियो…

मुनीर बख्श आलम डेढ़ साल से गुर्दे की बीमारी से जूझ रहे थे। उनके निधन से साहित्य जगत में शोक की लहर दौड़ गई। शोक संवेदना व्यक्त करने के लिए उनके बनौरा गांव स्थित आवास पर साहित्यकारों, शायरों व अन्य संभ्रांत लोगों की भीड़ जुटी रही। मंगलवार की देर शाम को उनके पार्थिव शरीर का सुपुर्दे खाक किया गया।

सुराही से बनाएं AC जैसी हवा देने वाला कूलर,जानिए कैसे….

मात्र इतने रुपए में मिल रहा है सबसे ज्यादा माइलेज वाला स्कूटर

एक जुलाई वर्ष 1943 केा घोरावल तहसील के बनौरा गांव में श्री आलम का जन्म हुआ था। इन्होंने स्वामी अड़गड़ानंद के यथार्थ गीता का उर्दू में अनुवाद किया एवं दिव्य प्रभा पत्रिका के संपादक रहे। उन्हे साहित्य गौरव,  बहादुर शाह जफर सम्मान,  सनातन गौरव सम्मान,  अवधेशानंद राष्ट्रीय सम्मान के अलावा देश भर से कई सम्मान मिला।

भगवान गणेश की मूर्ति से निकला पसीना…

इस नर्स ने 85 मरीजों को जहर का इंजेक्शन देकर सुलाया मौत की नींद

उनके निधन पर मधुरिमा साहित्य गोष्ठी, असुविधा साहित्यिक पत्रिका व शहीद स्थल प्रबंधन ट्रस्ट के तत्वावधान में मंगलवार को वरिष्ठ साहित्यकार अजय शेखर के आवास पर शोक सभा आयोजित कर आलम साहब को भावभीनी श्रद्धांजलि साहित्यकारए बुद्धिजीवियोंए कलाकारों एवं कलमकारों ने अर्पित की

दुनिया को ये एक चिप के बना सकता है दिमागी गुलाम….

प्लेटफॉर्म टिकट से भी कर सकते है ट्रेन में सफर

सैमसंग ने भारत में लॉन्च किया दुनिया का पहला ऐसा टीवी….

इंडियन ऑयल दे रहा है 12 लाख की कार जीतने का मौका…

चाॅकलेट खाने से हुई बच्‍चे की मौत….

Spread the love
Loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com