Breaking News

मायावती की दलित चौपाल पर बीजेपी हुयी हमलावर, डॉ. लालजी निर्मल ने सँभाली कमान

लखनऊ, बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती द्वारा दलित बाहुल्य गांवों में चौपाल लगाने की घोषणा पर बीजेपी हमलावर हो गयी है। मायावती को जवाब देने के लिये बीजेपी की ओर से दलित चिंतक और दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री एवं अनुसूचित जाति वित्त एवं विकास के चेयरमैन डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने कमान संभाली है।

 योगी आदित्यनाथ महंत की गद्दी और मुख्यमंत्री की कुर्सी के मोह के बीच झूल रहें हैं-अखिलेश यादव

बसपा उतरी मैदान में ,खोलेगी बीजेपी के दलित विरोधी कार्यों की पोल…..

 डॉ. लालजी प्रसाद निर्मल ने आज वीवीआईपी गेस्ट हाऊस लखनऊ में प्रेसवार्ता के दौरान कहा है कि दलितों के पक्ष में चल रही केंद्रीय एवं राज्य सरकार की योजनाओं से विचलित होकर बसपा सुप्रीमो मायावती को दलित चौपाल की याद आ गई है। क्योंकि सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं के सहारे दलित उद्यम और व्यवसाय से जुड़ने जा रहे हैं।

बीजेपी नेता के कहने पर लड़की ने लगाया विधायक पर रेप का आरोप

अखिलेश यादव ने सपा कार्यकर्ताओं से की ये अहम अपील….

डा. निर्मल ने कहा कि मायावती देश की राजनीति में सबसे बड़े जातिवादी चेहरे के रूप में स्थापित हैं, जो पहले ही कह चुकी हैं कि उनका उत्तराधिकारी उनकी अपनी ही जाति से होगा। बसपा सुप्रीमो  को छद्म आम्बेडकरवादी बताते हुए डा. निर्मल ने कहा है कि मायावती ने उत्तर प्रदेश में अनुसूचित जाति, अत्याचार उत्पीड़न निवारण अधिनियम को निष्प्रभावी किया, जो सबसे बड़ा दलित विरोधी कदम था।

उन्होने बताया कि मायावती ने प्रोन्नति में आरक्षण समाप्त करने की जमीन तैयार की। मायावती ने एम नागराज के केस में वर्ष 2006 में सुप्रीम कोर्ट में निर्देशित किया था कि प्रोन्नति में आरक्षण और परिणामी ज्येष्ठता के नियम बनाने के पूर्व प्रतिनिधित्व की अपर्याप्तता पिछड़ापन और दक्षता के आंकड़े एकत्र कर राज्य सरकारों को संतुष्ट होना होगा कि इनका प्रतिनिधित्व पूर्ण नहीं है, पिछड़ापन बना हुआ है तथा दक्षता पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है। इस रिपोर्ट के पश्चात ही राज्य सरकारें परिणामी ज्येष्ठता और प्रोन्नति में आरक्षण का नियम बना सकती हैं, किन्तु वर्ष 2007 में त्रितीय संशोधन ज्येष्ठता नियमावली बनाते समय मायावती सरकार ने एम. नागराज केस में दिए गए निर्देशों की अवहेलना की और कोई आंकड़े एकत्र नहीं किए, जिसके कारण उत्तर प्रदेश में प्रोन्नति में आरक्षण और ज्येष्ठता नियमावली का नियम न्यायालय ने समाप्त कर दिया।

न्यायपालिका में आरक्षण के लिए अब ” हल्ला बोल- दरवाजा खोल” आंदोलन

अखिलेश यादव ने कहा योगी वापस आए, नहीं तो अपना मठ वहीं बना लें…..

डॉ. निर्मल ने कहा है कि मायावती के पास आज तक कोई दलित एजेंडा नहीं है। न तो उनके पास दलितों के आर्थिक विकास का कोई कार्यक्रम है। आज जब स्टैंडअप इंडिया योजना के तहत दलित उद्यम लगाने में सक्षम हो रहा है और राज्य सरकार की दीनदयाल उपाध्याय रोजगार योजना के तहत दलित व्यवसाई बन रहा है, तो विचलित होकर वे दलित चौपाल की बात कर रही हैं। जबकि हकीकत ये है कि मायावती आजतक किसी भी दलित के घर नहीं गईं। इसके विपरीत आज जब मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दलितों के घर जा रहे हैं, तो उन्हें पीड़ा हो रही है।

एससी-एसटी और ओबीसी के इतने आरक्षित पद पड़ें हैं खाली ? सरकार को नही है चिंता ?

85 प्रतिशत एससी एसटी उत्पीड़न की शिकायतें सही, पर सुप्रीम कोर्ट चूक मानने को तैयार नही

दरअसल, बहुजन समाज पार्टी ने बीजेपी के दलित विरोधी कार्यों की पोल खोलने के लिए अब दलित बाहुल्य गांवों में चौपाल लगाने की  घोषणा की है। इस चौपाल में बीजेपी सरकार द्वारा दलित विरोधी किए गए कार्यों की जानकारी दी जाएगी। इस चौपाल में जिला कोऑर्डिनेटर के साथ क्षेत्रीय बसपा नेता शामिल होंगे। चौपाल कार्यक्रम की शुरुआत अगले महीने से होगी।

तुरंत बदलें अपने ट्विटर एकाउंट का पासवर्ड, सॉफ्टवेयर में मिला बग

 वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय को सीबीआई ने किया गिरफ्तार

बसपा के चौपालों में एक ओर जहां बीजेपी सरकार द्वारा किए गए दलित विरोधी कार्यों की जानकारी दी जाएगी। दूसरी ओर बसपा सरकार में हुए दलित हितों के लिए किए गए कार्यों को बताया जाएगा। बसपा का मानना है कि चौपाल के माध्यम से वह बीजेपी के झूठे दलित प्रेम का पर्दाफाश कर सकेगी।

समाजवादी पार्टी बड़े परिवर्तन की ओर, अखिलेश- शिवपाल मिलकर लिखेंगे सफलता की नई ईबारत

बीजेपी सांसद ने सीएम योगी के दलित भोज पर कसा तंज

डा. निर्मल ने कहा कि वह स्वंय दलितों के बीच जाकर संवाद करेंगे और उन्हें बताएंगे कि मायावती के पास दलितों के विकास के लिए आर्थिक रूप से मजबूत करने के लिए कोई कार्ययोजना नहीं है और मायावती डॉ. आम्बेडकर के मिशन की मुखर विरोधी हैं।

 विश्व प्रेस स्वतंत्रता दिवस पर इन पत्रकारों को किया गया याद

वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय के खिलाफ, सीबीआई ने किया मामला दर्ज

जिन्ना की तस्वीर की खिलाफत कर रहे लोग, गोडसे के मंदिरों का भी विरोध करें – जावेद अख्तर

भाजपा सरकार मे किसान के पास आत्महत्या करने के अलावा दूसरा विकल्प नहीं-समाजवादी पार्टी

इंटरनेट पर खेसारीलाल यादव ने मचाया धमाल, एक दिन में बना डाले ये रिकार्ड….

यूपी में उपचुनाव के लिए अधिसूचना जारी, जानिए पूरा विवरण….

राजभर समाज को सपा का समर्थन, मुख्यमंत्री को बताया सामंतवादी

लोकसभा चुनाव को लेकर, क्यों हैं मुलायम सिंह यादव इतने निश्चिंत ?

पिछड़ा, दलित और मुस्लिम गठजोड़, उपचुनाव मे तोड़ सकता है पुराने रिकार्ड

ओमप्रकाश राजभर का एक बार फिर अपनी सरकार पर हमला

मोदी सरकार का वरिष्ठ नागरिकों को बड़ा तोहफा, अब हर महीने मिलेगी 10000 रुपये पेंशन

Spread the love
loading...

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com