Breaking News

सहारनपुर जातीय हिंसा और भीम आर्मी के संघर्ष की दास्तान

नई दिल्ली,  राज्य सरकार ने सहारनपुर जातीय हिंसा के आरोपित भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर उर्फ रावण की समयपूर्व रिहाई का फैसला किया है। राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम (रासुका) के तहत जेल में निरुद्ध रावण को छोड़े जाने के लिए डीएम सहारनपुर को निर्देश दिया गया है।  चंद्रशेखर उर्फ रावण के अलावा इसी मामले में आरोपित सोनू व शिवकुमार को भी समयपूर्व रिहा किया जायेगा। इससे पूर्व तीन आरोपित सोनू उर्फ सोनपाल, सुधीर व विलास उर्फ राजू को सात सितंबर को रिहा किया जा चुका है। लेकिन इन सोलह महीनों मे बहुत कुछ झेला है इन दलित युवाओं ने।

मोदी सरकार के केंद्रीय मंत्री की बेटी ने किया बड़ा एेलान, पिता के खिलाफ लड़ेगी लोकसभा चुनाव

दिल्ली यूनिवर्सिटी छात्र संघ चुनाव के परिणाम घोषित, लगे ईवीएम में गड़बड़ी के आरोप

 05 मई 2017 को सहारनपुर से करीब 25 किलोमीटर दूर शिमलाना में महाराणा प्रताप जयंती का आयोजन किया गया था. जिसकी शोभा यात्रा जानबूझकर विवादित रूट से निकाली गयी जिस पर दलितों ने पहले ही आपत्ति जताई थी. विवाद इतना बढ़ गया कि दोनों तरफ से पथराव होने लगे थे, जिसमें ठाकुर जाति के एक युवक की मौत हो गई थी.

गन्ना- किसानों को कम खेती करने के भाजपा के सुझाव के पीछे ये खतरनाक साजिश-अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी ने प्रवक्ताओं की सूची मे नये नाम जोड़े़, देखिये प्रवक्ताओं की नई लिस्ट

इसके बाद शिमलाना गांव में जुटे हज़ारों लोग करीब तीन किलोमीटर दूर शब्बीरपुर गांव आ गए. जहां भीड़ ने दलितों के घरों पर हमला कर उनके 25 घर जला दिए थे. इस हिंसा में 14 दलित गंभीर रूप से घायल हो गए थे.घटना से आक्रोशित दलित युवाओं के संगठन भीम आर्मी ने 09 मई, 2017 को सहारनपुर के गांधी पार्क में एक विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया था.

इन पांच राज्यों में एक साथ हो सकतें हैं, विधानसभा चुनाव ?

पतंजलि ने मार्केट में उतारे डेयरी प्रोडक्ट, दूध से लेकर पनीर तक सस्ता,देखे Rate List

इसमें क़रीब एक हज़ार प्रदर्शनकारी इकट्ठा हुए थे लेकिन प्रशासन की इजाज़त नहीं मिलने के कारण पुलिस ने इसे रोकने की कोशिश की. पुलिस के रोकने के कारण प्रदर्शनकारियों का आक्रोश बढ़ा और गई जगहों पर भीड़ और पुलिस में झड़पें हुईं. जिसमे एक पुलिस चौकी फूंक दी गई और कई वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया गया था.

अब से नहीं बिकेंगी फटाफट आराम देने वाली सेरिडॉन, विक्स ऐक्शन 500 जैसी 328 दवाएं,जानिए क्यो..

बदल गया सीएम केजरीवाल का लुक, इस नए अंदाज में आए नजर

इस विवाद के बाद 21 मई, 2017 को दिल्ली के जंतर-मंतर पर एक प्रदर्शन का आयोजन किया गया था, जिसमें चंद्रशेखर रावण सार्वजनिक रूप से सामने आए थे. तीन दिन बाद बसपा प्रमुख मायावती शब्बीरपुर के पीड़ित दलित परिवारों से मिलने गई थीं. यहां फिर मायावती की सभा से लौट रहे दलितों पर ठाकुर समुदाय के लोगों ने हमला कर दिया था, जिसमें 24 साल के एक दलित युवा की मौत हो गई थी. 08 जून, 2017 को उत्तर प्रदेश पुलिस ने भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद रावण को हिमाचल प्रदेश के डलहौजी से गिरफ़्तार कर लिया और उन पर राष्ट्रीय सुरक्षा कानून की धारा लगाई.

सीएम योगी द्वारा यूपी के बेरोजगार युवाओं को अयोग्य कहने पर, अखिलेश ने तथ्यों सहित दिया करारा जवाब

एक वर्ष पूर्व, चंद्रशेखर उर्फ रावण द्वारा दाखिल  अर्जी पर सुनवाई करते हुए  इलाहाबाद हाईकोर्ट  ने उनकी सभी मामलों मे जमानत मंजूर की थी. कोर्ट ने जातीय हिंसा से जुड़े 4 मामलों में भीम आर्मी चीफ और डिप्टी चीफ सहित 4 लोगों को जमानत देते हुये चन्द्रशेखर और कमल की गिरफ्तारी को राजनीति से प्रेरित बताया था.

बीजेपी सरकार को सता रहा है हार का डर, इसलिये टाल रहें यह काम-अखिलेश यादव

लेकिन चंद्रशेखर को सभी मामलों में कोर्ट से जमानत मिलने के बाद रिहाई का आदेश आने से पहले ही जिला प्रशासन ने उनके खिलाफ रासुका के तहत कार्रवाई का नोटिस तामील कराया था. चंद्रशेखर सहित कुछ छह आरोपितों पर रासुका के तहत कार्रवाई की गई थी. जिसके कारण हाई कोर्ट से सभी मामलों में जमानत मिलने के बाद भी  चंद्रशेखर उर्फ रावण को जेल से रिहाई नही मिली.

लाखों कर्मचारियों की पेंशन के लिए वेतन से कटी रकम ‘गायब’, अटेवा ने बताया सबसे बड़ा घोटाला

अब सपा और बसपा की होगी संयुक्त बैठक,मिलकर करेंगे काम-अखिलेश यादव

चंद्रशेखर  को  प्रशासन ने रासुका में निरुद्ध कर दिया और फिर योगी सरकार ने तीन-तीन माह करके चार बार रासुका की अवधि बढ़ा दी. बीजेपी सरकार की इस कार्रवाही पर भीम आर्मी समर्थकों सहित दलित -पिछड़ों मे जबर्दस्त आक्रोश दिखा. भीम आर्मी ने रावण की रिहाई को लेकर आंदोलन की चेतावनी दी और व्यापक आंदोलन शुरू किया .

शिवपाल यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को लेकर जारी की प्रवक्ताओं की पहली लिस्ट…

 

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com