Breaking News

अखिलेश यादव ने बनाई प्रचार की नई रणनीति….

लखनऊ, आगामी लोकसभा चुनाव प्रचार के लिये समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नई प्रचार रणनीति बनाई है.

सपा विधायक ने खोला राज- बीजेपी ने क्रॉस वोटिंग के लिए दिया था, इतने करोड़ का आफर…

टीम इंडिया का ये तेज गेंदबाज कार दुर्घटना में घायल……

जानिये, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मीडिया से सीधे बात करने मे क्यों लगता है डर ? 

 अखिलेश यादव  ने कहा कि बूथ स्‍तर पर मजबूत प्रबन्‍धन करने के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा गया है कि वे गांव-गांव जाकर आम लोगों से संवाद स्‍थापित करें. उन्‍होंने कहा “मैं खुद, हमारे नेता और हमारे कार्यकर्ता सभी जगह पहुंचेंगे. वे उन्‍हें मेरे मुख्‍यमंत्रित्‍वकाल में शुरू कराये गये जनकल्‍याणकारी कार्यों के बारे में याद दिलाएंगे और मौजूदा भाजपा सरकार की उससे तुलना करने को कहेंगे.

प्रसिद्ध आलोचक वीरेंद्र यादव पर केंद्रित होगा, इस साहित्यिक पत्रिका का विशेषांक

 जानिये, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को मीडिया से सीधे बात करने मे क्यों लगता है डर ? 

 इस मुख्यमंत्री ने भी बढ़ाया दोस्ती का हाथ, कहा- मायावती और अखिलेश के हैं साथ 

 भाजपा ने अनेक वादे किये लेकिन उनमें से एक को भी पूरा नहीं किया. लोगों में भाजपा के प्रति गुस्‍सा है और उपचुनावों में वही नाराजगी सामने आ गयी. अखिलेश ने दोहराया कि कन्‍नौज से सांसद उनकी पत्‍नी डिम्‍पल यादव आगामी लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगी, क्‍योंकि उनके खानदान पर परिवारवाद को बढ़ावा देने का आरोप लगता है.

क्या बीजेपी अब डूबता हुआ जहाज ?, एक माह मे इस दूसरी पार्टी ने भी छोड़ा साथ

मायावती की प्रेस कांफ्रेंस से, बीजेपी की धड़कनें बढ़ीं, डैमेज कंट्रोल का है ये प्लान

मायावती ने दी ये अहम सलाह, तो अखिलेश यादव ने लिया तुरंत एक्शन…

 उन्‍होंने पलटवार करते हुए कहा कि राजनाथ सिंह, कल्‍याण सिंह, रमन सिंह, शिवराज सिंह चौहान जैसे भाजपा नेता परिवारवाद चला रहे हैं. उनके परिवार के लोग राजनीति में हैं। मेरी पत्‍नी चुनाव नहीं लड़ेंगी. ऐसे में इन भाजपा नेताओं को भी उदाहरण पेश करना चाहिये. अगर वे ऐसा नहीं करते हैं, और केवल आरोप लगाते हैं, तो मैं भी अपना मन बदल सकता हूं. सपा अध्‍यक्ष ने ‘ईद नहीं मनाने’ सम्‍बन्‍धी मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के हाल के बयान को असंवैधानिक करार दिया और आरोप लगाया कि भाजपा साम्‍प्रदायिक भावनाएं भड़काती है.

 सपा-बसपा गठबंधन अटूट, भाजपा कर रही तोड़ने की साजिश- मायावती

सपा-बसपा गठबंधन अटूट, भाजपा कर रही तोड़ने की साजिश- मायावती

भीमराव अंबेडकर का विरोध करने वाला ये विधायक हुआ बर्खास्त

जारी रहेगा सपा- बसपा गठबंधन, अगले दो चुनावों की रणनीति भी तय

लालू यादव को अब तक की सबसे ज्यादा सज़ा

पहली वरीयता मे, बीजेपी से ज्यादा वोट पाने के बाद, भीमराव अंबेडकर कैसे हारे…

पत्रकारों के कमज़ोर होने से, कमज़ोर होगा लोकतंत्र

लक्ष्मी नारायण बने, वक्फ विकास निगम लिमिटेड के अध्यक्ष

Spread the love

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com